Results for जयंती सेन 'मीना' जी के द्वारा शानदार रचना#बदलाव मंच

अब तो खामोशियां#

प्रकाश कुमार अगस्त 28, 2020
अब तो मेरी खामोशियां मुझे अच्छी लगने लगी है । कैफियत मांगने वालों की वो भीड़ अब छंटने लगी है।। पहले जो सूरतें हरदम,मुझे घेरे रहत...Read More
अब तो खामोशियां# अब तो खामोशियां# Reviewed by प्रकाश कुमार on अगस्त 28, 2020 Rating: 5
Blogger द्वारा संचालित.