Results for गीत

सावन गीत

बदलाव मंच अगस्त 01, 2020
डॉ अलका पाण्डेय मुम्बई शिर्षक मनभावन सावन आया मनभावन सावन आया ! दिल में आंनद समाया !! झूले पड गये अमराई ! नभ जलधारा ले आया !! मन भावन स...Read More
सावन गीत सावन गीत Reviewed by बदलाव मंच on अगस्त 01, 2020 Rating: 5

छेड़ा मैने राग रागिनी ,तुम भी तो कुछ गाओ

बदलाव मंच जुलाई 13, 2020
श्रृंगार गीत छेड़ा मैने राग रागिनी ,तुम भी तो कुछ गाओ । प्रिये तुम जरा पास तो आओ ।। क्या उम्दा सुर ताल मिले है । उर के सुन्दर सुमन ख...Read More
छेड़ा मैने राग रागिनी ,तुम भी तो कुछ गाओ छेड़ा मैने राग रागिनी ,तुम भी तो कुछ गाओ Reviewed by बदलाव मंच on जुलाई 13, 2020 Rating: 5

संघर्षों के रास्ते से ,तू जीत की नई परिभाषा लिख जा (अभियान गीत)

बदलाव मंच जुलाई 12, 2020
अभियान गीत संघर्षों के रस्ते से तू जीत की नई परिभाषा लिख जा न निराशाओं के ओढ़ बादल मेहनत की तू बारिश कर जा है कठिन यह रास्ते पर चल तू लक्ष्य ...Read More
संघर्षों के रास्ते से ,तू जीत की नई परिभाषा लिख जा (अभियान गीत) संघर्षों के रास्ते से ,तू जीत की नई परिभाषा लिख जा (अभियान गीत) Reviewed by बदलाव मंच on जुलाई 12, 2020 Rating: 5

ज़िन्दगी के हाल कैसे हो रहे हैं बढ़ रहे हैं पांव ,जीवन जल रहे हैं।

बदलाव मंच जुलाई 12, 2020
‌बदलाव मंच अनोखी लिखित सह वीडियो प्रतियोगिता  ज़िन्दगी के हाल कैसे हो रहे हैं बढ़ रहे हैं पांव ,जीवन जल रहे हैं। नीड़ उजड़े हैं ...Read More
ज़िन्दगी के हाल कैसे हो रहे हैं बढ़ रहे हैं पांव ,जीवन जल रहे हैं। ज़िन्दगी के हाल कैसे हो रहे हैं बढ़ रहे हैं पांव ,जीवन जल रहे हैं। Reviewed by बदलाव मंच on जुलाई 12, 2020 Rating: 5

राम जगत का सार सर्वथा, अन्य न तारण हारा है।* *सिय के पिय बिन इस धरती पे, अपना कौन सहारा है।।* दसमुख क्रोध रूप होकर के,ज्ञान शून्य कर जाता है। पाप बढ़ा कर इस जगती की, शाँति शीलता खाता है।।

बदलाव मंच जुलाई 10, 2020
🌷 *नमन पाञ्चजन्य काव्यप्रसून* 🌷                   *एक भजन*  *राम जगत का सार सर्वथा, अन्य न तारण हारा है।* *सिय के पिय बिन इस धरती पे, अपना...Read More
राम जगत का सार सर्वथा, अन्य न तारण हारा है।* *सिय के पिय बिन इस धरती पे, अपना कौन सहारा है।।* दसमुख क्रोध रूप होकर के,ज्ञान शून्य कर जाता है। पाप बढ़ा कर इस जगती की, शाँति शीलता खाता है।। राम जगत का सार सर्वथा, अन्य न तारण हारा है।* *सिय के पिय बिन इस धरती पे, अपना कौन सहारा है।।*  दसमुख क्रोध रूप होकर के,ज्ञान शून्य कर जाता है। पाप बढ़ा कर इस जगती की, शाँति शीलता खाता है।। Reviewed by बदलाव मंच on जुलाई 10, 2020 Rating: 5

सावन गीत

बदलाव मंच जुलाई 08, 2020
🌹🌹🌹सावन गीत 🌹🌹🌹 . साजन की याद सताती है, सावन में  l पायलिया शोर मचाती है, सावन में  ll     शीतल, मंद बहे पुरबाई  l      रह - रह के आती...Read More
सावन गीत सावन गीत Reviewed by बदलाव मंच on जुलाई 08, 2020 Rating: 5

आओ साथी नमन करें , ये मिट्टी हिंदुस्तान की ।

बदलाव मंच जुलाई 06, 2020
राष्ट्रीय    भक्ति  गीत        आओ साथी नमन करें ,                ये मिट्टी हिंदुस्तान की  ।       इस मिट्टी का तिलक करें,                  य...Read More
आओ साथी नमन करें , ये मिट्टी हिंदुस्तान की । आओ साथी नमन करें ,  ये मिट्टी हिंदुस्तान की  । Reviewed by बदलाव मंच on जुलाई 06, 2020 Rating: 5

करो निरोग काया

बदलाव मंच जून 21, 2020
21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस  की हार्दिक बधाई  योग गीत – करो निरोग काया | ये योग साधना की है अजीब माया | कभी बचाए कोरोना कभी करे निरोग क...Read More
करो निरोग काया  करो निरोग काया Reviewed by बदलाव मंच on जून 21, 2020 Rating: 5

गीत- गम दे दिया

बदलाव मंच जून 19, 2020
गीत- गम दे दिया | इश्क के मारे हम तूने क्या गम दे दिया | कर के बेवफाई धोखा क्या कम दे दिया | खुश रहो तुम जुदाई तेरी सहा मैंने | सह सके जुल्म...Read More
गीत- गम दे दिया गीत- गम दे दिया Reviewed by बदलाव मंच on जून 19, 2020 Rating: 5
Blogger द्वारा संचालित.