रविवार, 17 जनवरी 2021

अनिल मोदी जी द्वारा खूबसूरत रचना#कोरोना काल में प्रभावित शिक्षा#

तिथि 31 - 12 - 2020
विषय है:- कोरोना काल में प्रभावित होती शिक्षा। निम्नवर्गीय छात्रों की। 
विधा लघु कथा
सुरेश अत्यंत मेधावी छात्र। कक्षा मे प्रथम आना ही उसका प्रण रहता। खूब लगन से पढाई करता। चार भाई बहन और माँ, घर की जिम्मेदारी सुरेश पर।
मेहनत मजदूरीं कर घर का निर्वाहन करना। सब व्यवस्थित चल रहा था। कोरोना के आगमन ने सब कुछ छीन लिया। 
हिम्मत ना हारी, पाठशाला की जगह आॅन लाईन ने लेली।  नया मोबाइल लिया, मगर नैट की तकलीफ चलते पढाई में व्यवधान  चलने लगा। मोबाइल में घूर कर पढते सिर दर्द शुरू।
डाक्टर को दिखाया। डाक्टर ने दवाई संग मोबाइल प्रयोग कम कर आराम की हिदायत दी। जैसाकि बच्चों के लिये मोबाइल हानिकारक है,सरकार भी मानित है। सुरेश ने पढाई छोड़, घर की जिम्मेदारी प्रथम मानी। पुरी लगन से जीविकोपार्जन में उतर गया।
पढाई छुटी,मगर परिवार का भरण पोषण सुचारु रहा, यही बडा संतोष धन है ।
ये मेरी मौलिक रचना है और इसे प्रकाशन का आपको सर्वाधिकार है।


अनिल मोदी के,चेन्नेई

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें