मंगलवार, 26 जनवरी 2021

रजनी शर्मा 'चंदा' जी द्वारा अद्वितीय रचना#नव वर्ष#

नववर्ष 
खुशियों का यह नया साल आ गया 
कमाल धमाल 2021 बेमिसाल आ गया

 इस साल में कहो नया क्या क्या होगा 
फिर से पुराना वही सवाल आ गया 

रंग बहारों से सजी रहे महफ़िल हमारी
 सतरंगी ख्वाबों का ख्याल आ गया

 क्या खोया क्या पाया हिसाब ना रखें 
उमंग उत्साह से सराबोर धमाल आ गया 

साल बदलेगा बस हम नहीं बदलेगे
 हंसते मुस्कुराते करने बवाल आ गया।

रजनी शर्मा 'चंदा'
रांची झारखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें