शुक्रवार, 15 जनवरी 2021

स्मिता पाल (साईं स्मिता), जी#नव वर्ष#

*मां शारदे को नमन, बदलाव मंच को नमन।*
सादर समीक्षार्थ,
साप्ताहिक प्रतियोगिता हेतु स्वरचित कविता
विषय: नया साल, नए संकल्प
शीर्षक: नव वर्ष

नव वर्ष की,
नव किरण में,
नव जागृत हो,
निज निज मन।

नवीन संकल्प लें,
नव जोश हो,
नव उल्लास भरे,
निज मन में।

नव पहल से,
नव आरंभ हो,
नव स्वप्न हो,
नव जीवन में।

नव ऊर्जा से
नम्र भाव से 
निर्मल मन से
निर्धारित करें लक्ष्य।

नव कदम बड़े,
निष्ठावान बन
नित दिन प्रयास कर
निर्मित करे जीवन।

स्मिता पाल (साईं स्मिता), झारखंड
रिसर्च स्कॉलर (अर्थशास्त्र- महिला सशक्तिकरण)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें