मंगलवार, 29 दिसंबर 2020

अपराजिता कुमारी जी द्वारा अद्वितीय रचना#

मंच को नमन
राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय बदलाव मंच 
साप्ताहिक प्रतियोगिता
 दिनांक -21/ 12/ 2020
 विषय -शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ती आत्मनिर्भरता 
विद्या- कविता
अक्षर अक्षर दीप जलाएं
 चलो शिक्षा का अलख जगाए
 अशिक्षा,निरक्षरता 
दूर भगाएं

 ज्ञान प्रकाश का
 एहसास कराएं 
छोटी-छोटी कोशिशों से 
शिक्षा का प्रसार कराएं
 अशिक्षा मिटाएं चेतना जगाएं
 अक्षर अक्षर दीप जलाएं

 शिक्षित हो अधिकारों 
और कर्तव्यों से
 सामाजिक विकास को आधार बनाएं 
साक्षरता से सभ्य,सुदृढ़ समाज बनाएं 
अक्षर अक्षर दीप जलाएं

 आत्मनिर्भरता का 
उत्सव मनाए
 व्यक्ति,समुदाय,
समाज को सक्रिय बनाएं

 साक्षरता को मूलभूत विकास बनाएं
 निष्क्रिय समाज को 
सक्रिय बनाएं

 साक्षरता है
 मानव अधिकार,
सबको बतलाए
 हर बच्चे को स्कूल की
 दहलीज तक पहुंचाएं, 

 निरक्षरता के अभिशाप से मुक्ति दिलाएं
 साक्षरता से सबको जगाएं, 
शोषण से सबको बचाएं

 अक्षर अक्षर दीप जलाएं
 शिक्षा से सबको आत्मनिर्भर बनाए

स्वरचित व मौलिक रचना
अपराजिता कुमारी (अधीर) 
 पटना
 बिहार

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें