शुक्रवार, 11 दिसंबर 2020

कवि श्याम कुँवर भारती द्वारा रचित देवी भजन

देवी भजन  – माँ देख इधर |
माँ देख इधर देख इधर |
तेरा बेटा है इधर |
खोल दे आँख तू माँ आँख तू |
भटक रहा मै इधर उधर |
माँ देख इधर देख इधर |
जन्मो जन्मो की है तू मेरी माता |
हर जन्मो का माँ है तुझसे नाता |
तेरी कृपा माँ मै जाऊ सुधर |
माँ देख इधर देख इधर |
तेरे प्यार का हूँ मै बड़ा प्यासा | 
कबसे लगाया हूँ मै तुझसे आसा |
कबसे मै खोजूँ माँ तू है किधर | 
माँ देख इधर देख इधर |
तेरे सिवा दिल मेरे कोई नहीं है |
मुझको पता मुझको भुलाई नहीं है |
डाल दे माँ तू बस एक नजर |
माँ देख इधर देख इधर |
श्याम कुँवर भारती (राजभर)
कवि /लेखक /गीतकार /समाजसेवी 
बोकारो झारखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें