मंगलवार, 29 दिसंबर 2020

लीना थावानी जी द्वारा खूबसूरत# भारत में आत्मनिर्भरता #

आत्म निर्भर भारत:- शिक्षा के क्षेत्र में योगदान
बदलाव मंच साप्ताहिक प्रतियोगिता हेतु
दिनांक--21/12/2020
विषय--आत्म  निर्भर भारत -शिक्षा के क्षेत्र में योगदान।
विघा---कविता 
 आत्मनिर्भरता का प्रथम चरण है शिक्षा।
 व्यक्ति के व्यक्तित्व का आईना है शिक्षा।

 आत्ममंथन स्वयं को पहचानने का जरिया है शिक्षा।
 मुश्किलों में रास्ता ,अंधकार में उजाला दे वह है  शिक्षा

 देश की उन्नति है सशक्तिकरण का आधार है  शिक्षा । इतिहास की धरोहर, आज और कल का भविष्य है शिक्षा
 डॉक्टर, इंजीनियर ,कुशल उद्योगपति
 हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर शिक्षा से ही बन पाते हैं।

 शिक्षा से ही सच्चे नागरिक बनकर समृद्ध और खुशहाल भारत निर्माण के प्रहरी बन पाते हैं ।
तो बस वक्त की नजाकत को पहचानना होगा
 नई शिक्षा नीति ,विचारों को अपनाना होगा।

 सिर्फ किताबी ज्ञान नहीं कुशलता को भी बढ़ाना होगा        मानवीय मूल्यों,बहुमुखी प्रतिभा  को बढ़ाना होगा।
 आत्म  निर्भरता के नाम पर शिक्षा से सिर्फ ना करो कमाई।
 क्योंकि सभी शास्त्रों के नीति ज्ञान की बातें तो बस ईमानदारी में समाई।
           स्वरचित रचना---
                                   
 लीना थावानी

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें