रविवार, 6 दिसंबर 2020

राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय 'बदलाव मंच' अध्यक्षा रूपा व्यास द्वारा 'उम्मीद' विषय पर रचना


*शीर्षक-उम्मीद*

उम्मीद भी होगी पूरी।
उम्मीद पर जीवनाधारित।
उम्मीद है,उनके दीदार का।
उम्मीद है,तेरी चाहत की।
उम्मीद है,तुझसे मिलने की।
उम्मीद न हो तो मैं अधूरी।
उम्मीद है तो हमारा प्यार पूर्ण।
उम्मीद है एक होने की।
उम्मीद है इस दिल को तू और न तड़पाएगा।
उम्मीद है,अपने सपने पूरे होने की।
उम्मीद है तू भी उतना ही वफादार होगा,जितना हम।
उम्मीद है,तेरे हाथ से मिलेगी मेरे हाथों की रेखा।
उम्मीद है,एक दिन तेरे प्यार के काबिल बनूंगी।
उम्मीद है,एक दिन तेरे दिल की धड़कन बनूंगी।

-रूपा व्यास
अध्यक्षा,राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय 'बदलाव मंच',
'परमाणु नगरी' रावतभाटा।
rupa1988rbt@gmail.com
*मौलिक व स्वरचित*
धन्यवाद

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें