बुधवार, 11 नवंबर 2020

डॉ.राजेश कुमार जैन जी द्वारा'हाइकु' परअद्वितीय रचना#

सादर समीक्षार्थ
 विधा      -        हाइकु 


1 -          दीपावली का
             पावन त्यौहार है
                   दीप जलाओ

  2--        खुशी मनाओ 
              मिठाइयाँ खिलाओ
                     दीप पर्व है

 3   -        खुशियाँ  बाँटो
              सबको तुम रोज
                   दीपोत्सव है 

4  -               सभी हैं खुश
                चहुँ ओर खुशियाँ
                   ही खुशियाँ हैं

 5  -              बड़े दिनों से
               प्रतीक्षा थी सबको
                 खुशी मनाएँ

6  -                  ईश्वर की ही
                   है यह तो सौगात
                      मिली सभी को

 7  -              आओ हम भी
                झूमें नाचें सभी तो
                  गम भुलाएँ

 8    -             तृप्त प्रकृति
                  होती लगती अब
                     खुशियाँ लाई

 9  -               सभी मनाएँ
                आओ हम दिवाली
                       बड़े प्यार से

 10  -                वर्ष भर में
                आती है एक बार
                      आस लगाए

11 -           जाने कब से
               सब आस लगाए
                      आए दिवाली

 12 -           खुशी मिलती
                सबको अद्भुत सी
                      दीपावली में



 डॉ.राजेश कुमार जैन
 श्रीनगर गढ़वाल
 उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें