बुधवार, 25 नवंबर 2020

निर्मल जैन 'नीर' जी द्वारा खूबसूरत रचना#रानी लक्ष्मीबाई#

रानी लक्ष्मीबाई...
*******************
सुनी कहानी~
रानी लक्ष्मीबाई थी
बड़ी मर्दानी
धूल चटाई~
युद्ध में अंग्रेजों ने
मुँह की खाई
मन में ठानी~
बुलन्द था हौसला
हार न मानी
शत्रु नाशिनी~
रानी लक्ष्मीबाई ने 
दे दी कुर्बानी
कोटि वंदन~
हिन्दुस्तानी माटी है
माथ चंदन
********************
निर्मल जैन 'नीर'
ऋषभदेव/उदयपुर
राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें