मंगलवार, 24 नवंबर 2020

कवि राजेश कुमार जैन जी द्वारा रचना ‘रोशनी का त्योहार’

सादर समीक्षार्थ

दिनांक-   15. 11. 2020 रविवार
 विषय-
 रोशनी का त्योहार


 रोशनी का त्योहार
    लाया खुशियाँ अपार 
       लोग करते स्वीकार
         खुले सभी के मन द्वार..।।

 रोशनी का त्योहार
   सजते सभी घर बार 
       झूमे सारा संसार
         सजा दीपों की कतार..।।

 रोशनी का त्योहार
    आए   यूँ  बारम्बार
        निकले दिल से पुकार 
           माँ सजे तेरा दरबार..।।

 रोशनी का त्योहार
     सभी करते इसे प्यार 
        आता वर्ष में एक बार
           करते सभी इंतजार..।।

 रोशनी का त्योहार
 रोशनी का त्योहार।।


 डॉ. राजेश कुमार जैन
 श्रीनगर गढ़वाल 
उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें