शुक्रवार, 6 नवंबर 2020

राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय 'बदलाव मंच' अध्यक्ष दीपक क्रांति द्वारा 'चाँद' विषय पर रचना

*कोई दिन कहाँ कोई खास मांगता है*
*इश्क़ तो हरपल इश्क़ का एहसास मांगता है*
*दूर हो चाँद किसी का ये वक्त की बात है,*
*पर दिल हमेशा तुझे आस-पास मांगता है*..

....दीपक क्रांति, 
संस्थापक अध्यक्ष, बम 

करवा चौथ की हार्दिक मंगलकामनायें

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें