बुधवार, 18 नवंबर 2020

निर्दोष लक्ष्य जैन जी द्वारा खूबसूरत रचना#

चलो हम बात करते है ..मोबाइल पर 
       चलो हम प्यार करते है ..मोबाइल पर 
       चलो इकरार  करते है मोबाइल पर 
       चलो आंखे  चार करते है मोबाइल पर ॥ 

.     घर बेठे बात करते  यार .मोबाइल पर 
       कुछ अपनी सुनाते कुछ तेरी सुनते है 
      चलो दिले हाल कहते है यार मोबाइल पर 
      कुछ दूर ना एकांत सब पास मोबाइल पर 
      चलो हम प्यार करते है .मोबाइल पर ॥ 

      पल पल की खबर है यार मोबाइल पर 
..    सारे रिश्ते सब की खबर मोबाइल पर 
      पापा मम्मी दादा दादी साथ मोबाइल पर 
      बीवी बच्चे सारे दोस्त साथ मोबाइल पर 
       चलो हम प्यार करते .है मोबाइल  पर ॥

      बंद है सब घर में पर साथ मोबाइल पर 
      पल पल जुड़ी है साथ दुनियाँ मोबाइल पर 
     चलो इकरार यार तकरार करते है मोबाइल पर 
 ...   चलो हम प्यार करते है मोबाइल पर ॥ 

      मोबाइल शुक्रिया सौ बार शुक्रिया 
      सारी दुनियाँ कॊ मुट्ठी में ला दिया  ॥ 

           निर्दोष लक्ष्य जैन धनबाद

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें