रविवार, 15 नवंबर 2020

निर्दोष लक्ष्य जैन जी द्वारा खूबसूरत रचना# दीपावली#

दीपावली का त्योहार है 
                कुछ नया होना चाहिये
               सिर्फ प्यार होना चाहिये 
        रामराज्य का  सपना 
                 साकार   होना चाहिये 
       सत्य अहिंसा धर्म का 
                    प्रसार होना चाहिये 
        आतिशबाजी का कुछ तो 
                  बहिष्कार होना चाहिये 
      मूक पशु पंक्षीयों से भी 
                      प्यार होना  चाहिये 
     पर्यावरण का दोस्तों सदा 
                       ध्यान होना चाहिये 
      आतिशबाजी का तो 
                    बहिष्कार होना चाहिये 
    घर घर   दीपकों की 
                 बहार कतार  होनी चाहिये 
     चाईना की लाइट का 
                     बहिष्कार होना  चाहिये 
       दीपक का त्योहार  है 
                       दीपोत्सव होना चाहिये 
      घर घर गणेश लक्ष्मी की 
          ....          पूजा होनी चाहिये 
       जुआ खेल लक्ष्मी का 
                    .अपमान ना होना चाहिये 
     भगवान महावीर निर्वाण महोत्सव 
                   धूम धाम से मनाना चाहिये 
    अहिंसा का त्योहार है 
                     प्यार से मनाना चाहिये 
     दीपावली त्योहार है 
                        कुछ नया होना चाहिये 
      प्यार प्यार प्यार " लक्ष्य" 
                          सिर्फ प्यार होना चाहिये 

    ...........स्वरचित     निर्दोष लक्ष्य जैन

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें