मंगलवार, 17 नवंबर 2020

सतीश लाखोटिया जी द्वारा खूबसूरत रचना#

*समय बडा बलवान* 
समय समय की बात
समय रचता
हर समय नया इतिहास
जीत के उन्माद  में
हार के गम में
क्या क्या किया नेताओं ने
समय-समय पर दर्ज 
उनके भी नाम के रेकॉर्ड

 यह समय   जिनके नाम
 अभी तो माला जपेंगे सभी
सुबह, दोपहर, शाम
 इनके ही नाम
सोचो यही
देश में होंगे सारे शुभ काम
समय के कालचक्र में
कोई  राजा बनकर
कोई रंक  बनकर
देते रहेंगे 
अपने काम को अंजाम

अभी समय इस बात का
जरा दे हम 
स्वयं की ओर ध्यान
 पहले से लेकर आज तक
किसी भी नेता ने नहीं खिलाई हमें दाल रोटी
यह समय-समय पर
दिया  हमें
किसी ने किसी ने ज्ञान

ज्ञात सभी को
समय की हमेशा ही रही
 अपनी विशेष पहचान 
  आओ मिलकर बनाएं हम
अपना समय विशेष 
 लेकर ईश्वर का नाम

सतीश लाखोटिया
नागपुर, महाराष्ट्र

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें