गुरुवार, 19 नवंबर 2020

कवि रविबाला ठाकुर जी द्वारा रचना ‘विषय-दीपोत्सव'

बदलाव राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मंच
साप्ताहिक प्रतियोगिता
विषय-दीपोत्सव
विधा-हाइकु
        
    आया दीवाली
    भाईचारा, सौहार्द
    सौगात मिला।

     रखें सहेज
     अमूल्य उपहार
     सदुपयोग।

     घर-आँगन
     लगता आकर्षक
     मन निर्मल।
     
     चलो बनाओ
     दीवारों के रंगों सा
      मन सुन्दर।

     दीपावली में,
     जले ज्ञान का दीप
     जग रौशन।

    रविबाला ठाकुर
स./लोहारा,कबीरधाम,छ.ग.

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें