मंगलवार, 17 नवंबर 2020

सुखमिला अग्रवाल जी द्वारा खूबसूरत रचना#

राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय बदलाव मंच 
साप्ताहिक प्रतियोगिता 
दिनांक-11/11/2020
वार-बुधवार
विषय-दीपोत्सव
विधा -*मनहरण घनाक्षरी *
मात्रा-8-8-8-7
शीर्षक-*दीपों का त्यौहार दीपावली.. *
••••••••••••••••••••••••
दीपों का त्यौहार आया,
मन में उमंग लाया,
हिल मिल घर में ही,
संग संग मनाईये।

सुरक्षा पहले धरो,
लापरवाही ना करो,
बुजुर्गों के आशिर्वाद से,
घर को सजाईये।

हर्ष और उमंग से,
नेकियों के भाव से,
खुशियाँ लुटा लुटा के,
खुशियाँ ही पाईये।

दिवाली त्यौहार आया,
सुख व समृद्धी लाया,
सुन्दर भावों को सजा,
राम को बुलाईये।

श्रद्धा भाव मन में जगे,
अन्धकार दूर करे,
जगमग ज्योति तले,
अज्ञान को मिटाईये।
•••••••••••••••••••••••
सुखमिला अग्रवाल
     स्वरचित मौलिक 
      सर्व अधिकार सुरक्षित्

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें