गुरुवार, 22 अक्तूबर 2020

कवि डॉ.राजेश कुमार जैन जी द्वारा 'संकल्प' विषय पर रचना

सादर समीक्षार्थ
 विषय     -      संकल्प 


संकल्प आवश्यक है जीवन में 
संकल्प बिना जीवन है बेकार
 दृढ़ संकल्प सदा मनुष्य को
 देता विस्तृत सदा आकाश..।।

 संकल्प करो हिंसा न करेंगे
 सभी से हम तो करेंगे प्रेम
 बैर भाव से हम दूर रहेंगे
 काम सभी के हम आएंगे ..।।

प्राण तन में जब तक रहेंगे
 कर्म सदा हम नेक करेंगे
 संकल्प है अब यही हमारा
 सबका सदा उद्धार करेंगे..।।

 पाप न कभी भी हम करेंगे
 मानवता की बात करेंगे 
नेक राह पर ही हम चलेंगे
 प्रभु की भक्ति सदा करेंगे ..।।

डॉ. राजेश कुमार जैन
 श्रीनगर गढ़वाल
 उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें