मंगलवार, 20 अक्तूबर 2020

कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा 'जय माता दी' विषय पर रचना

सादर नमन मंच
जय माता दी

दिनांक--१९/१०/२०२०
दिवस-- सोमवार
आयोजन-- नवरात्रि विशेष
विषय-- मां तेरे चरणों में
###############

मां तेरे चरणों में,
मैं शीश झुकाऊंगी।
चंद्रघंटा देवी माता,
तेरी आरती गाऊंगी।

शेर की सवारी माता,
असुरों का संहार करें।
अकिंचन की झोली में,
श्रद्धा तू अपार भरे।

चंचल मन को स्थिर करती,
द्रवित मन में प्यार भरती।
टाल दो संसार के संकट,
मनुष्य में मनुष्यता भरती।

अर्धचंद्र मस्तक पर शोभित,
रूप सलोना तेरा घंटाकार।
हे मैया तू आदिशक्ति है,
लगा दो मेरी नैया पार।

     स्वरचित-- नीलम डिमरी
    चमोली,,,, उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें