मंगलवार, 20 अक्तूबर 2020

कवि निर्मल जैन 'नीर' जी द्वारा 'दक्षता' विषय पर रचना

दक्षता.....
*******************
करो प्रयास~
प्राप्त होगी दक्षता
रखो विश्वास
रूकना नही~
मुसीबतों के आगे
झुकना नही
चलते रहो~
लक्ष्य को पाने तक
बढ़ते रहो
करो अभ्यास~
सफलता के बिना
आता न रास
न हो उदास~
एक न एक दिन
मंजिल पास
*******************
निर्मल जैन 'नीर'
ऋषभदेव/उदयपुर
(राजस्थान)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें