मंगलवार, 13 अक्तूबर 2020

कवयित्री सविता मिश्रा जी द्वारा “विषय-डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम" पर रचना

मंच नमन 
बदलाव मंच (राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय मंच )
साप्ताहिक प्रतियोगिता हेतु रचना(9-13अक्टूबर 2020 तक) 
विषय - डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम
शीर्षक - जन्म तिथि / जन्म दिवस 
दिनांक - 12-10-2020
विधा - पद्य - लेखन

गौरव शाली देश भारत के थे गौरव,
अपने कर्म से बढ़ाया विश्वा में भारत का गौरव l1l

नाम था कलाम, 
करते थे अपने हर काम में कमाल l2l

चाहे राजनीति हो या विज्ञान, 
हर क्षेत्र में खूब कमाया अपना नाम l3l

जन्म हुआ 15  अक्तूबर सन 1931 तमिलनाडु में, 
एक गरीब और अल्पशिक्षित तमिल परिवार में l4l

पिता जैनुलाब्दीन थे एक नाविक, 
माता असीम्मा थी एक गृहणी l5l

डॉक्टर अबुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम, 
था कलाम का पूरा नाम l6l

बचपन बिता कठिनाईयों में, 
किया संघर्ष अपने जीवन में l7l

थे विराट व्यक्तिव के धनी, 
रहे उच्च पदों पर आसीन l8l

थे एक व्यक्ति कलाम जी, 
राजनीतिज्ञ, वैज्ञानिक, इंजीनियर राष्ट्रपति, भारतीय प्रक्षेपात्र में पितामह कलाम जी l9l

व्यक्ति एक है रूप अनेक, 
अपने जीवन में सफल और सिद्ध किया l10l

किताबें पढ़ना- लिखना और वीणा वादन का, 
था शौक बहुत कलाम जी का l11l

था अनुशासन, ईमानदारी, शांत और उदार स्वभाव,  
कभी नहीं किया अपने आप पर अभिमान l12l

पद्मा भूषण, भारत रत्न, पद्म विभूषण, इंदिरा गाँधी अवार्ड से, 
सम्मानित हुए डॉक्टरेट की उपाधि से l13l

दिया सफलता का श्रेय अपनी माँ को, 
अच्छे - बुरे को समझने की शिक्षा पाई माँ से l14l

सफलता के लिए अपने जीवन में मेहनत और संघर्ष करते हुए  निरंतर आगे बढ़ना, 
 दिया हम सभी को अनमोल और प्रेरणादायक ज्ञान l15l

किया एक नए युग का शुरुआत, 
बना आज तक है आयाम l16l

आज इस महान पुरुष के जन्म तिथि पर, 
आज इस महान व्यक्ति के जन्म दिवस पर l17l

करती हूँ मैं शत - शत नमन, 
चढ़ाती हूँ अपने श्रद्धा - सुमन l18l

अर्पित करती हूँ अपनी भावांजलि, 
समर्पित करती हूँ मैं अपनी काव्यांजलि l19l

रचनाकार का नाम - सविता मिश्रा 
(शिक्षिका, समाजसेविका और कवयित्री ) 
पता - वाराणसी उत्तर प्रदेश 
स्वरचित और मौलिक रचना 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें