शुक्रवार, 30 अक्तूबर 2020

डॉ सुनील कुमार परीट जी#सतर्क भारत समृद्ध भारत#

बदलाव अंतरराष्ट्रीय मंच
मंच को नमन
प्रतियोगिता हेतु
विषय :- सतर्क भारत समृद्ध भारत

शीर्षक :- ।। सतर्क भारत समृद्ध भारत ।।
मेरा भारत है सदा महान
हिंदुस्तानी नहीं किसी से कम
कैसे भी किया करो हमला
सामना करने का दिल में है दम ।।

अनजाने में गलती हो गई
तराजू लेकर आए थे आप
पर तलवार पकड़ लिया
अब गलती कतई नहीं होगा रे साप ।।

है सतर्क भारत समृद्ध भारत
अब नहीं है हमें किसी से आस
हम हैं आत्मनिर्भर हैं समृद्ध 
हम रखते हैं सफाई आसपास ।।

हमें डराने की कोशिश मत करो
कोरोना का भय हमें ना दिखाओ
भारत जाग उठा है समझ लो
क्योंकि सतर्क भारत समृद्ध भारत ।।

कोई उंगली नहीं दिखा सकता
भारत भी है अब शक्तिशाली
ये धरातल है हमारी पुण्यभूमि
जो यहां जन्म लिया ओ सौभाग्यशाली ।।

 *डॉ सुनील कुमार परीट* 
बेलगांव कर्नाटक
वरिष्ठ हिंदी अध्यापक
 कर्नाटक

स्वरचित मौलिक रचना सर्वाधिकार सुरक्षित

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें