बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

सतर्क भारत समृद्ध भारत#कुंमारी चंदा देवी स्वर्णकार जी द्वारा#

विधा,,हाइकु
सतर्कता हो
भारत समृद्ध है
गुणगान हो।


रोना ना रोना
 देश समृद्धि रहे 
 सब येजाने।

 एक सोच है
 निर्भरता के साथ
 बना समर्थ।

 एक सपना
 बेटी शिक्षित रहे
 इतिहास हो।


 देश अपना
 उन्नति की दिशा
 सबल देश।


 सेना सतर्क
 नया इतिहास हो
 दुश्मन हारे




 सतर्क के देश
 सृष्टि की इबारत
 समृद्धि देश


 देश हमारा
 हमें प्राणों से प्यारा
समृद्ध देश

कुंमारी चंदा देवी स्वर्णकार
 जबलपुर मध्य प्रदेश

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें