गुरुवार, 1 अक्तूबर 2020

कवि डॉ.राजेश कुमार जैन जी द्वारा रचना “विषय - हौसला"

सादर समीक्षार्थ
 विषय      -   हौसला
 विधा       -        हाइकु


1  -             हौसला सदा
               ही बुलंद हो तभी
                   मजा आता है

2  -          हौसला रखो 
            ईश्वर भी तभी तो
                मानेंगे बात
 
 3           -    हौसला ही तो
                 जीवनकी प्रेरणा 
                     देता है सदा 

4  -            हौसलों से ही
             ऊंची उड़ान होती 
                 हौसला रखो
 
5  -            हौसला हो तो
             जीत आपकी होगी
               निश्चित जानो

6 -            हौसला ही तो
              जीवन शक्ति होता
                    इसे बनाएं

7 -            हौसले बिना
              जीवन व्यर्थ होता
                    स्मरण रखें 


डॉ. राजेश कुमार जैन
 श्रीनगर गढ़वाल
 उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें