गुरुवार, 1 अक्तूबर 2020

कवि निर्मल जैन ‛नीर' जी द्वारा रचना “विषय-गाँधी जी, अहिंसा और प्रेम"

राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय
        बदलाव मंच
-----------------------------
साप्ताहिक प्रतियोगिता
-----------------------------
     विषय-गाँधी जी,
     अहिंसा और प्रेम
-----------------------------
कोटि नमन~
राष्ट्रपिता गाँधी को
सदा वन्दन
महान संत~
अहिंसा के पुजारी
सत्य अनंत
एक मिसाल~
आज़ादी की जगाई
बड़ी मशाल
महात्मा गाँधी~
अंग्रेजों के खिलाफ़
थी एक आँधी
विदेशी छोड़ा~
स्वदेशी आंदोलन
सबको जोड़ा
प्रखर नेता~
मानवतावाद के
गाँधी प्रणेता
अद्भुत व्यक्ति~
कूट-कूट के भरी
थी राष्ट्र भक्ति
हुए कुर्बान~
विश्व पटल पर
गौरव गान
-----------------------------
     निर्मल जैन 'नीर'
   ऋषभदेव/उदयपुर
        (राजस्थान)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें