शनिवार, 24 अक्तूबर 2020

सविता मिश्रा जी द्वारा#

मंच नमन 

 बदलाव मंच (राष्ट्रीय - अंतरराष्ट्रीय मंच) 
विषय - देवी माँ दो वरदान - कलम लिखे लेख महान 
विधा - कविता 
दिनांक - 23-10-2020 
गोटेदार चुनरी आयी माँ ओढ़ के, 
भक्तों तू दर्शन कर लो जय कारा बोल के l

 जग का करने कल्यान सवार होकर आयी माँ शेर पे, 
 सजने लगा माता का दरबार जय कारा बोल के l

घर- घर घट - कलश की स्थापना होने लगी, 
माता के गीतों की गुंजन होने लगी l

होना सभी पर प्रसन्न तू माता, 
रखना सभी पर अपना आशीष तू माता l

देना सभी को वरदान हे जगत जननी! 
कलम सभी की लिखे लेख महान हे जग कल्याणी!
करना जगत का कल्याण माँ भवानी l रखना अपनी छत्र छाया माँ भवानी ll
रचनाकार का नाम - सविता मिश्रा
                   (शिक्षिका, समाजसेविका और लेखिका ) 
पता - वाराणसी, उत्तर प्रदेश
स्वरचित और मौलिक रचना

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें