शुक्रवार, 30 अक्तूबर 2020

नारायण प्रसाद ग्राम आगेसरा (अरकार) जी द्वारा

बदलाव मंचअंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय  (25 एवं 26 अक्टूबर 2020 की विशेष प्रतियोगिता हेतु मेरी मौलिक एवं स्वरचित रचना)


शीर्षक-सतर्क भारत,समृद्ध भारत
कोरोना तो फैला है,गाँव, गली और शहर ।
थोड़ा कम जरूर हुआ है,कोरोना का कहर ।

भूल कर भी कोरोना को मत समझना बौना।
नहीं तो जिंदगी से पड़ सकता है हाथ धोना।

देश में अनलॉक की प्रक्रिया,अब गतिमान है। 
मित्रों! सब को कोरोना से रहना सावधान है।

मास्क लगाना और बनाना दो गज की दूरी ।
बार-बार साबुन से हाथ धोना भी है ज़रूरी।

अनावश्यक बाहर घूमकर मत दिखाना बहादुरी।
भीड़ वाले जगह में जाने से बचना भी है ज़रूरी।

ये संकट के दिन भी धीरे से कट जाएंगे।
सावधानी अगर सब लोग अपनाएंगे।

सतर्क और सावधान रहने का करो संकल्प।
ये कोरोना से बचने का सबसे अच्छा विकल्प।

फिर से भारत देश  को समृद्ध बनाएंगे।
इस कोरोना बीमारी को तो दूर भगाएंगे।

✍🏻नारायण प्रसाद 
ग्राम आगेसरा (अरकार)
जिला -दुर्ग, छत्तीसगढ़।
(मौलिक एवं स्वरचित रचना)
दिनांक- 26/10/2020

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें