मंगलवार, 20 अक्तूबर 2020

कवयित्री योगिता चौरसिया जी द्वारा 'शक्ति दायिनी' विषय पर रचना

19/10/2020
तांका-5,7,5,7,7
शक्ति दायिनी

शक्ति दायनी
माता जगजननी
जग कल्याणी
 माता दुखहारिणी
संकट दूर करो।

शेरोवाली माँ
शुभ प्रिया शैलजा
अष्टभुजी माँ
चंद्र घंटा चंचला
आदि शक्ति अंबिका।

अति सुंदर
रुप मनभावन
मुखड़ा माँ का
श्रृंगार सुशोभित
लाल चुनरी भावे।

कृपा निधान
जपूँ आठो पहर
ब्रह्म चारिणी
कण कण मे आप
निरोगी काया देना।
स्वरचित/मौलिक
अप्रकाशित
योगिता चौरसिया
मंडला म.प्र.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें