शनिवार, 10 अक्तूबर 2020

सपूत#बाबूराम सिंह कवि जी द्वारा बेहतरीन रचना#

लघु कथा
======
                सपूत 
            ***************

रामेश्वर राय जी बडे़ ही सज्जन ,इमानदार व उदार व्तक्ति थे । सुख के सब साधनों से सम्पन्न अपने धर्मपत्नि रमावती के साथ बडे़ ही आराम चैन से अपना जीवन व्यतित कर रहे थे।
अभी दो साल पहले ही प्राईमरी स्कूल के हेडमास्टर पद से रिटायर
हुये थे ।रामेश्वर राय जी की उदारता की चर्चा दूर-दूर तक फैली हुई थी ।

उनको भी एक ही पुत्र था,नाम था रामस्वरुप राय।राम स्वरुप जी भी अपने पिता के पथ पर चलकर सज्जनता में मशहूर हो गये थे।
बीस वर्ष की आयु में बी0ए0
फाईनल कर चुके थे ,उनका शादी 
रामनरेश राय की पुत्री रुपवती के
साथ हो गयी ।अब पुरा परिवार हँसी खुशी से रहने लगा।रामेश्वर राय जी अपना सब कुछ बेटा व 
बहू के नाम कर दिये थे ।

अचानक पांच साल के बाद राम-
स्वरुप की पत्नि रुपवती व उनकी माता जी में तू-तू मै -मै होने लगा।
जिससे पुरा परिवार बेहाल हो गया।राम स्वरुप कोतो रात में 
निंद भी नहीं आती थी कि क्या करु क्या नहीं करुँ।अन्त में विवश हो कर अपनी पत्नि की बातों में आकर अपने माता-पिता को बृध्दाश्रम छोड़ आये और रोते हुये
घर चले आये ।

एक वर्ष बित गया ,रामस्वरुप को कुछ भी अच्छा नहीं लगता था ।
अपनी पत्नि से कई बार माँ-बाप को पुनः घर वापिस लाने की बात-चित की ,लेकिन पत्नि का कहना था कि वो लोग जब घर आयेगें तब मै घर में नहीं रहूंगी।
रामस्वरुप अपने पत्नि को बहुत
ही समझाये कि माँ-बाप से अलग
रहकर हमलोग कदापि खुशहाल
नहीं रह सकते हैं ।माता-पिता के
पावन चरणों में सब तीर्थ धाम 
बसता है ,तुम अपनी जिद्द छोड़
दो ओर उनलोगों को घर वापस
बुला लो ,लेकिन पत्नि कहाँ मानने 
वाली थी।पत्नि बोली कि कुछ भी
कर लो वो लोग घर आयेगें तो मै
आपना जान दे दूगी।

अन्त में रामस्वरुप विवश हो एक वकील से  राय लेकर अपनी पत्नि को तलाक देकरअपने माता पिता को ...................................
पुनः घर वापिस लाए।उनके माता
पिता ने धुम-धाम से दुसरी शादी कर दी ,अब पुरा परिवार खुशी से
रहने लगा।एक  दिन   रामस्वरुप 
अपने माता पिताके चरणों में बैठ-
कर और रो-रो कर कहने लगे कि 
मुझे माफ कर दिजीए ,माता-पिता भी रोने लगे और शर पर अपना हाथ सहलाते हुए बोले कि माफी मत मांग ,बेटा तू तो सपूत है और सबकी आँखें नम हो गयी ।

*************************
बाबूराम सिंह कवि
बड़का खुटहाँ , विजयीपुर 
गोपालगंज(बिहार)841508
मो0नं0 - 9572105032
*************************

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें