बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

सतर्क भारत#समृद्ध भारत#निर्मल जैन 'नीर' जी द्वारा खूबसूरत रचना#

बदलाव अंतरराष्ट्रीय मंच
प्रातियोगितार्थ
विषय-सतर्क भारत समृद्ध भारत
दिनांक-26/10/2020
*******************
रहो सतर्क~
समृद्ध हो भारत
न हो कुतर्क
मत रो रोना~
नही गया है अभी
यह कोरोना
कोई न अर्थ~
यदि भारत नही
बना समर्थ
करो प्रयास~
विश्व पटल पर
हो इतिहास
एक सपना~
आत्मनिर्भर बनें
देश अपना
*******************
निर्मल जैन 'नीर'
ऋषभदेव/उदयपुर
(राजस्थान)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें