मंगलवार, 13 अक्तूबर 2020

कवयित्री माधवी गणवीर जी द्वारा रचना “राष्ट्रपति अब्दुल कलाम"

बदलाव मंच
सादर नमन
साप्ताहिक प्रतियोगिता
दिनांक 9/10/2020 से 13/10/2020
विषय -  *राष्ट्रपति अब्दुल कलाम*

ओजस्वी, तेजस्वी, कर्मवीर,योद्धा थे कलाम,
 भारत के वीर सपूत, मिसाइल मैन, को सलाम,
 देशप्रेम, राष्ट्रहित, परोपकार की मिशाल,
संघर्ष, समर्पण, कर्तव्य में उत्कृष्ट आपका नाम।

गरीबी और मुफलिसी में जीने वाले,
अखबार बेचकर पढ़ाई करने वाले, 
जैनुलब्दीन के प्यारे, रामेश्वरम में अवतारे,
 सत्यनिष्ठ, कर्तव्यनिष्ठ ,कहलाने वाले।

कठिन संघर्ष पथ पर बढे, अनुसंधानकारी,
अग्नि,त्रिशूल,आकाश, पृथ्वी, नाग, मिसाइलधारी,
 पोखरण परमाणु से जग को किया हैरान,
 पद्मभूषण,भारत रत्न,व्यक्तित्व चमत्कारी।

राष्ट्रपति पद को किया सुशोभित,
 सपने में भी सोचा भारत का हित,
 युवा शक्ति के प्रेरणा, ऊर्जावान, गुणवान,
अंतिम सांस तक बने सबके मनमीत।

प्रतिभा के धनी, महाप्रतापी किए भारत की भलाई,
अनुसंधानकर्ता ने विश्व पटल पर नयी पहचान दिलाई,
27 जुलाई 2015 को ली अंतिम विदाई,
फिर देश कभी न कर पाया  उनकी भरपाई।

*माधवी गणवीर*
सम्मानित राष्ट्रपति पुरस्कार शिक्षिका
राजनांदगांव,छत्तीसगढ़

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें