गुरुवार, 1 अक्तूबर 2020

निर्दोष लक्ष्य जैन जी द्वारा विषय राम राम पर खूबसूरत रचना#

हम तो करते  सुबह शाम 
            सबकॊ राम राम राम ।
       सबकों अपना  ये पेगाम  
          भज लो .राम राम राम । 
       सबकी बिगड़ी बनाए राम 
            जप लो राम राम राम ॥ 
       हम तो लिखते सुबह शाम 
           यारों  राम राम राम  ॥ 
       सीता राम राम राजा राम राम ! 
            सबकों राम राम राम ॥ 
       सबकों नही थी फुर्सत 
           दिन रात   काम ही काम 
       भूल गए थे  हम सब 
            भगवान राम का नाम ।
         टी बी में रामायण आई 
              याद आगए फिर राम !॥ 
        जप लो राम राम राम 
        भज लो राम राम राम    ॥ 
        
      संकट में अब दुनियाँ भाई 
              याद आए बस राम  ॥ 
         भज लो राम राम  राम 
             जप लो राम राम राम ॥ 
        दुनियाँ के सब रिश्ते झूठे 
                 झूठा तेरा   नाम 
       सच्चा है तो एक ही भाई 
                 बस राम का ही नाम ॥ 
         जप लो राम राम राम  ॥ 

       हम तो करते सुबह शाम 
...... ..  मोबाइल से ये काम 
.  ........सबकों राम राम राम 
          " लक्ष्य " राम राम राम ॥ 

                           निर्दोष लक्ष्य जैन धनबाद

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें