बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

स्मिता पाल (साईं स्मिता) जी द्वारा विषय सतर्क भारत समृद्ध भारत पर खूबसूरत रचना#

दिनांक: 26/10/2020
विषय: सतर्क भारत,समृद्ध भारत
   बदलाव मंच में आयोजित प्रतियोगिता हेतु
*शीर्षक: सतर्क भारत,समृद्ध भारत*

समृद्ध भारत का हैं सपना,
देश को हैं आत्मनिर्भर बनना।
अंदरुनी और बाहरी सतर्कता जरूरी हैं,
दृश्य-अदृश्य शत्रु से अब दो-दो हाथ करनी हैं।

अशिक्षा, बेरोज़गारी, महामारी अदुरुनी समस्या है,
सीमा रेखा का उल्लंघन को भी रोकना हैं।
आर्थिक विकास के साथ देश के संप्रभुता को बचाना है,
मातृभूमि पर उठने वाले नापाक औजारों को भस्म करना है।

कोरोना को हर हाल हराना हैं,
सामाजिक-भौतिक दूरी का पालन करते रहना हैं।
स्वास्थ्य भारत बनना हैं,
समृद्ध भारत बनना हैं।

स्वछता हमें अपनना हैं,
भ्रष्टाचार दूर करना हैं।
सरकारी कार्यों में पारदर्शिता लाना हैं,
कौशल विकास से बेरोजगारी कम करना हैं।

हर निवेश में सतर्कता बरतनी हैं,
नई प्रौद्योगिकी में जागरूकता लानी हैं।
सकल घरेलू उत्पाद बढ़ाना हैं,
देश को हर हाल समृद्ध बनना हैं।

सीमा पर सतर्कता बढ़ानी हैं,
देश की अखंडता-एकता को बनाए रखनी हैं।
किसान और जवानों में समन्वय बनानी हैं।
सतर्कता से ही समृद्ध भारत बनानी हैं।।

*जय हिन्द, जय भारत*

*स्मिता पाल (साईं स्मिता), झारखंड*
*(मौलिक एवं स्वरचित)*

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें