शुक्रवार, 18 सितंबर 2020

तुलसी#शशिलता पाण्डेय जी द्वारा बेहतरीन रचना#

🌿तुलसी🌿
🙏***************🙏
एक देवी का पर्याय है तुलसी,
हर हिंदुत्व की पहचान ये तुलसी!
 घर के तुलसी-चौरे में होता पौधा,
माँ या दादी इसकी करती पूजा!
 दुष्कर रोगों से लड़ती बन योद्धा,
तुलसी काढ़ा से सर्दी-खाँसी दूर!
हर मर्ज की औषधि तुलसी की पत्ती,
चाहे धनी या निर्धन या गरीब मजबूर!
सुलभ सस्ती और अति गुणकारी पत्ती,
 हर संक्रमण से ये सबको रखती दूर!
आर्युवेद औषधि में हर रोगों में उपयोग,
 इसके प्रभाव से दूर होता गले का रोग!
 ज्ञानी-ध्यानी करे हर आर्युवैदिक प्रयोग,
 सामयिक विमारी कोरोना भगाने योग्य!
तुलसी का ये पौधा बड़ा ही गुणकारी,
नियंत्रित रखता मधुमेह की बीमारी!
एक बूंद तुलसी का रस दूर करे ज्वर,
ये दिखता पौधा हर हिन्दू के घर-घर!
 घर की स्त्री चढ़ाती जल इसमें सवेरे,
नमन करती, सुख-सौभाग्य हो घर मेरे!
हर पूजा और प्रसाद संग तुलसी का सेवन,
इसकी घर मे हर रोज होती पूजा और नमन!
हर हिंदुओ के घर की पहचान है तुलसी,
आरोग्यता की एक खान ये तुलसी!
जो लगायें घर-घर ये गुणकारी पौधा,
 रोग से मुक्ति तुलसी-पत्ती बनकर योद्धा!
 तुलसी का पौधा तो ईश्वर का एक वरदान,
वायु प्रदूषण मुक्त बनाये बचाये सबकी जान
निकट मृत्यु जिनकी मुख में तुलसीदल देते!
मरनेवाले को ,मोक्ष की प्राप्ति स्वर्ग जाते,
इसलिए गुणकारी तुलसी हम घर मे लगाते!
**********************************
स्वरचित और मौलिक
सर्वधिकार सुरक्षित
कवयित्री:-शशिलता पाण्डेय

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें