मंगलवार, 1 सितंबर 2020

डॉ. राजेश कुमार जैन जी द्वारा 'विकट स्थिति' विषय पर हाइकु

सादर समीक्षार्थ
 विधा      -      हाइकु


1 -          विकट स्थिति
           शैतान सा कोरोना
                  प्राण हरता

      
2     -          विचलित से
                डरे सहमे लोग 
                   जी रहे सब


 3  -        भूखे घूमते
          काम धंधा चौपट 
              क्या होगा अब


 4      -     लॉकडाउन    
             बेरोजगार हुए 
              हालत पस्त


5       -      मझधार में 
               फंसे छटपटाते   
                 जीना दूभर 


6  -         दे दो आसरा 
             प्रभु शरण सब
               तुम्हारी आये


                हे प्रभु मेरे 
7   -       करो कल्याण तुम   
                 राह दिखाओ 


डॉ. राजेश कुमार जैन श्रीनगर गढ़वाल 
     उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें