मंगलवार, 15 सितंबर 2020

कवि- आ.अशोक शर्मा वशिष्ठ जी द्वारा इंजीनियर दिवस पर सुंदर रचना...

आज इंजीनियर दिवस के अवसर पर सारे देशवासियों को बधाई यह दिन महान इंजीनियर मोक्षगुंडम विश्वेश्वेसरैया के जन्मदिन के रूप मे मनाया जाता है
इस अवसर पर मैं इस महान पुरूष को काव्यात्मक पुषपांजलि अर्पित करता हूं

         इंजीनियर दिवस

     इंजीनियर हैं देश की आन बान और शान
राष्ट्र निर्माण में उनका अहम योगदान
इंजीनियर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया महान
इंजीनियरिंग के क्षेत्र मे कमाया विशेष नाम

         मैसूर था ईन का जन्मस्थान
पिता श्रीनिवास शास्त्री माता वेंकाचम्मा की होनहार संतान
बचपन से ही मेधावी और ज्ञानवान
इंजीनियरिंग मे प्राप्त किया प्रथम स्थान
अपनी कर्मठता से बने इंजीनियर योग्य और महान

     अपने कार्य में दक्षता से कमाया खूब नाम
परिश्रम से किया काम,आराम को समझा हराम
अपनी कड़ी मेहनत से रचे कई नए आयाम
ऐसे कर्मयोगी को सारा जगत करता सलाम

      सत्य निष्ठा से राष्ट्र की सेवा की
जन जन से ख्याति अर्जित की
मैसूर के वो रहे दीवान
अपनी क्षमता से बढाया पद का मान

  कर्नाटक के भागीरथ कहलाए
नए बांध नई परियोजनाएं लाए

भारत सरकार ने उनकी योगदान को पहचाना
उनकी क्षमता का लोहा माना
       स्थापित किए नए कीर्तिमान
  जीवन मे पाए कई मान और सम्मान
भारत रत्न सर्वश्रेष्ठ सम्मान
किया आधुनिक भारत का नवनिर्माण

इस महानात्मा को मेरा कोटि कोटि प्रणाम
जिस ने दिया मेहनत और लग्न का पैगाम

           अशोक शर्मा वशिष्ठ

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें