रविवार, 13 सितंबर 2020

निर्दोष लक्ष्य जैन जी# ईद और दिवाली#

उस घर में रोज ईद और दिवाली होती है 

      जिस घर में सदा प्यार, और खुशहाली होती है 
       उस घर में रोज ईद  , और दिवाली     होती है 
      जिस घर में सदा  प्यार का बसेरा      .होता है 
       उस घर में हर चेहरे पर  हरियाली      होती है 
     सुबह ईद दोपहर होली , रात  दिवाली   होती है 
     जिस घर में सदा प्यार, और खुशहाली  होती है 

    जिस घर में बुजुर्गों का उच्च  स्थान     होता है 
    जिस घर में भाई भाई में सदा प्यार     होता है 
    जिस घर में ननद भौजाई में मीठी बोली होती है 
     जिस घर में सास बहु  में सदा प्यार   होता है 
     जिस घर में सदा खुश   घरवाली      होती  है 
    उस घर में सदा प्यार और खुशहाली   होती है 
     उस घर में सदा प्यार की गंगा बहाती       है 
      उस घर में रोज    ईद और  दिवाली होती  है 

     जिस घर में गौ माता का     सम्मान  होता  है 
     जिस घर में अतिथि का सदा   मान होता .  है 
     जिस घर में रागद्वेष का नहीँ स्थान होता     है 
     जिस घर में बेटा बाप कॊ भगवान समझता  है 
     जिस घर में सदा धर्म का जयकारा होता     है 
    उस घर में सदा प्यार और खुशहाली    होती है 
     उस घर में रोज ईद और दिवाली        होती है 
   "लक्ष्य" सुबह ईद दोपहर होली रात दिवाली होती है 
           स्वरचित             निर्दोष लक्ष्य जैन 
                                         6201698096

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें