शनिवार, 12 सितंबर 2020

सदा मुस्कुराना#निर्दोष लक्ष्य जैन जी द्वारा बेहतरीन रचना#

सदा मुस्कराना सदा मुस्कराना 
                  मेरी प्यारी बहाना सदा मुस्कराना 
       तू अभिमान हमारा तू सम्मान हमारा 
                तू ही तो है बहना हर अरमान हमारा 
        तू ही तो बहना इस घर का है गहना 
                      सदा खुश रहना सदा मुस्कराना ॥ 
        ना बेटा दुखों से कभी तुम घबराना 
                      ये छनभंगुर इनका आना जाना 
       ये दुःख भी तो मानव की संपति माना 
                      इन से मेरी बहना क्या घबराना 
        सदा खुश रहना सदा मुस्कराना ॥ 
               ये भईया का कहना ये भाभी का कहना 
        ये मम्मी का कहना ये पापा का कहना 
                     मेरी बिटिया रानी कभी ना घबराना 
       तुझको प्यारी बिटिया  आशीष हमारा 
                 सुनलो सुनलो "लक्ष्य" की प्यारी बहना 
       सदा खुश रहना सदा मुस्कराना 
                     मेरी प्यारी बहना सदा मुस्कराना 
     ..मेरी  लाड़ो बिटिया सदा मुस्कराना 

                           निर्दोष लक्ष्य जैन 
   स्वरचित                        6201698096

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें