मंगलवार, 8 सितंबर 2020

आओ फिर प्यार की गंगा बहाए हम#निर्दोष लक्ष्य जैन#

 फिर प्यार की गंगा बहाए हम 
              आओ फिर धरती कॊ जन्नत बनाए हम 
       राष्ट्र से बड़ा न कोई सबको समझाए हम 
                      राष्ट्र भक्ति के गीत गुण गुणाए हम 
      पर्यावरण ही जीवन सबको बताए हम 
                    हरित क्रांति का बिगुल बजाए  हम 
      आओ फिर धरती कॊ जन्नत बनाए हम 
                     जात पात का न भेद भाव करें हम 
       प्यार एकता की मिसाल बन जाए हम 
                       बुजुर्गों का सदा सम्मान करें हम 
      नारी शक्ति का   सदा मान करें  हम 
                       देश पर सदा  अभिमान करें हम 
      हिंदी अपनी राष्ट्र भाषा गुमान करें हम 
                विदेशी सामानों का बहिष्कार करें हम 
      स्वदेशी अपनाए देश से प्यार करें हम 
              आओ फिर धरती कॊ जन्नत बनाए हम 
     शिक्षा बहुत जरूरी सबको समझाए हम 
                  देश में शिक्षा का परचम लहराए हम 
     आओ "लक्ष्य" देश पर अभिमान करें हम 
                  आओ इस माटी का तिलक करें हम 
     आओ फिर प्यार की गंगा बहाए   हम 
              आओ फिर धरती कॊ जन्नत बनाए हम 

    स्वरचित 
  5।9।2020                         निर्दोष लक्ष्य जैन 
                                              6291698096

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें