मंगलवार, 1 सितंबर 2020

डॉ.राजेश कुमार जैन द्वारा सायली छंद


सादर समीक्षार्थ
 विधा  -      साइली छंद


1 -                खुशियाँ
                मिले सबको 
              विपदाएं हों दूर
                 रहें  सभी 
                   प्रसन्न


2 -               गणपति
                  तुम आओ
         विपदा मिटाओ सभी
                  तुम्हें सब 
                    पुकारें


3 --           विघ्नहर्ता
              मंगलमूर्ति भी 
               तुम ही हो
               कष्ट हरो
                 सबके 

4   -              अवतार
                   लो प्रभु 
                तुम फिर से 
             भाग्योदय होंगे 
                    हमारे

5    -             जीना
                हुआ दूभर 
             कृपा करो प्रभु 
             बिगड़ी तुम 
                बनाओ 

6   -             अधर्मी 
                   हुई सृष्टि  
                प्रभु दया करो 
                     दो ज्ञान
                       सबको

7  -            पालनहार 
                  तुम   हो
             प्रभु , विपत्ति दूर
                 कर     दो
                    सबकी 

8 -                जीवन 
               राह  दिखाओ
               चारों ओर फैला
           अंधकार, मेरे
                        प्रभु


9     -             नीलकण्ठ
                   महामारी से
          बचाओ,  तुमने सदा 
            ही  सृष्टि 
                   बचाई

 10 -           भोलेनाथ
               फिर अवतारो
        जीना हुआ दुश्वार 
                  सभी हुए
                    परेशान 



डॉ. राजेश कुमार जैन
श्रीनगर गढ़वाल
उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें