मंगलवार, 22 सितंबर 2020

तुही तू है#श्याम कुँवर भारती (राजभर)जी द्वारा#

साई भजन - तुही तू है |
साई तेरी दुआ से दुनिया मे रोशनी है |
गर कर दे तू करम यहा कुछ नहीं कमी है |
तेरी रहमतों से कायम ये दुनिया जहा है |
जिधर भी देखो हर तरफ नूर तेरा वहा है|
साई बाबा हर तरफ तुही तू है |
गर तू न होता बाबा कुछ भी न होता |
तेरे मुरीदों को क्या क्या न हस्र होता |
साई बाबा हर तरफ तुही तू है |
डाल दे तू नजर जिधर उधर कमाल हो जाये |
अन्धो को आंखे गूंगे की बोली धमाल हो जाये |
साई बाबा हर तरफ तुही तू है |
कहा से तू आया सिर्डी मे धुनि रमाया |
हर दुखियो के दुख तूने पल मे भगाया |
साई बाबा हर तरफ तुही तू है |
होके मजबूर तेरी चौखट सिर झुकाने आया |
दिल के दर्द साई बाबा को सुनाने आया |
साई बाबा हर तरफ तुही तू है |
अब तेरे सिवा न कोई यहा सहारा मेरा |
अंधेरी जिंदगी मेरी करो उजियारा मेरा | 
साई बाबा हर तरफ तुही तू है |

श्याम कुँवर भारती (राजभर)
कवि /लेखक /गीतकार /समाजसेवी 
बोकारो झारखंड मोब -9955509286

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें