शुक्रवार, 25 सितंबर 2020

चंन्द्र प्रकाश गुप्त "चंन्द्र" जी द्वारा दीनदयाल जी पर बेहतरीन रचना#

आज भारतीय राजनीति के युग दृष्टा अजातशत्रु पं दीनदयाल जी उपाध्याय जी के जन्मदिवस पर सभी देशवासियों को अनंत कोटि हार्दिक शुभकामनाओं के साथ अपनी काव्यांजलि श्रृद्धा कुसुम समर्पित करता हूंँ-
            
सादर वन्दे मातरम् 

राजनीति के यायावर थे तुम राष्ट्र नीति के चतुर चितेरे

पांचजन्य बजाया राजनीति में राष्ट्र धर्म का ज्ञान भरे

कालजयी तुम जन्मजेय थे अब तक तक्षक शोक करें

दीनदयाल थे तुम दीनों के दुःख में थे अश्रु भरे

उठो लाल अब सो लिया बहुत जन जन यही पुकारे

सृजन करो भारत की राजनीति का अब यहां नाग बहुत फुंकारे

नाथो नाग नथैया बन कर कृष्ण कन्हैया बंशी अधर धरे

कंस चाणूरों का मर्दन हो भारत के कण कण में फिर मथुरा रंग भरे

 
  भारत माता की जय 

        चंन्द्र प्रकाश गुप्त "चंन्द्र"
         अहमदाबाद , गुजरात

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें