गुरुवार, 17 सितंबर 2020

आ.नीलम डिमरी जी द्वारा सुंदर रचना

नमन वीणा वादिनी
विषय --पितृ देवता
  विधा-- हाइकु

पितृपक्ष में~
पितृ देवता सभी
तर्पण पाएं।

परम तोष~
उनको मिलता है
श्राद्ध पक्ष में।

पुत्र- पौत्र से~
श्राद्ध ग्रहण कर
दुख हरते।

कर्मकांडीय~
पंडित को भोजन
करवाते हैं।

पितृ देव हैं~
पितृ लोक भ्रमण
तब जाते हैं।

   रचनाकार--- नीलम डिमरी
    चमोली,,,,,, उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें