बुधवार, 9 सितंबर 2020

जय जवान#रामबाबू शर्मा,राजस्थानी,दौसा(राज.)जी द्वारा श्रेष्ठ रचना#

.
  👮🇮🇳 *जय जवान* 🇮🇳👮

        भारत माँ के सच्चे प्रहरी,
        वीर जवानों अभिनंदन।

        मर मिटने से कभी न डरते,
        आओ उनका कर ले वंदन।।

       चिंता नहीं,सर्दी गर्मी की,
       वर्षा में भी,अडिग खडें।

       बर्फ पिघल,करती अगवानी,
       सैनिक सीमा पार अडे।।

       घर से ज्यादा देश की चिंता,
       पावन बंधन है हितकारी।

      गंगा जमुना सी ये पावनता,
      वीरों ने,हिम्मत कब हारी।।

      देश की खातिर प्राण तज दिए,
      मानवता की,पहरेदारी।

     नहीं डरा, बम गोली से भी,
     बस  सीमा की रखवाली।।

     आन-बान की लाज बचा दी, 
     लगी हो,प्राणों की भी बाजी ।

     करें आरती वीर जवां की,
     जय बोलो भारत माँ की।।
   🙏🇳🇪🙏🇳🇪🙏🇳🇪🙏
    ©®
       रामबाबू शर्मा,राजस्थानी,दौसा(राज.)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें