मंगलवार, 22 सितंबर 2020

कोई देश भेजे करोना#शौर्य जायसवाल* जी द्वारा बेहतरीन रचना#

🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁🍁
*कोई देश भेजे कोरोना,*
*उसे पड़ गया अपनी सीमा में रोना।*

*कोई देश था बहुत अमीर,*
*कोरोना के पड़ गए लाखों तीर।*

*इस कोरोना का क्या करें,*
*इसकी वजह से लाखों मरें।*

*अर्थव्यवस्था है हिली-डुली,*
*बेवड़ों के दम पर पड़ी।*
*आता-जाता है नहीं,*
*फिर भी विज्ञान, प्रयोगशाला खोलें*
*दिल-दिमाग है नहीं,*
*घड़ियाली आँसू रोये।*

*-शौर्य जायसवाल*
*मुम्बई*
*(उम्र- 13 वर्ष)*

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें