सोमवार, 24 अगस्त 2020

कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा 'एकदंत/विनायक' विषय पर हाइकु

नमन वीणा वादिनी
दिनांक--२४/०८/२०२०
दिवस-- सोमवार
विषय-- एकदंत/ विनायक
विधा-- हाइकु

एकदंत हो~
तुम हो विनायक,
लंबोदर हो।

मंगल कर्ता हो~
विघ्न विनाशक,
नमन तुम्हे।

मोदक प्रिय~
तुम हो गजानन,
हो अलौकिक।

जगत कल्याण~
मंगल फल पावें,
वंदन तुम्हें।

मूषक राज~
वाहन है तुम्हारा,
सबसे प्रिय।

चार भुजा हैं~
रिद्धि, सिद्धि ध्यान में,
तुमको ध्यावे।

गौरी सुत हो~
महादेव नंदन,
हो शुभकारी।


  रचनाकार--नीलम डिमरी
     चमोली,,, उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें