शुक्रवार, 21 अगस्त 2020

प्रसिद्ध कवयित्री गीता पांडेय जी द्वारा रचित 'हरतालिका तीज' विषय पर कविता

हरतालिका तीज पर कविता 
            21/08/2020
            स्वरचित कविता 

हरतालिका  तीज  की  ढेर 
          सारी हार्दिक शुभ कामनाएँ। 
माता,बहनों को अखंड
         यह सौभाग्यवती बना जायें। 

मुझको भी इस व्रत से मिले
          एक ऐसा अनुपम आशीर्वाद।
मेरे साजन कही भी रहें, मेरे
        लिये उनकी जिंदगी रहे आबाद।

उनके नाम की बिंदिया,माथे
         पर सदा शोभता रहें ये सिन्दूर।
उनकी सजनी मैं ही रहूॅ, न
          कभी भी होऊॅ उनसे हम दूर।

प्रतिपल उनके प्यार से मेरे
           लिए बरसता रहे वह फुहार।
जिससे मेरा अंग अंग भींगे 
          मेरे लिए बना रहे वसंत बहार।

गीता पाण्डेय, रायबरेली, उत्तर प्रदेश

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें