रविवार, 9 अगस्त 2020

तीर अपनों पर चलाया आपने।।अपने पन को क्या लजाया आपने।।

तीर अपनों पर चलाया आपने।।
अपने पन को क्या लजाया आपने।।

कारवां भटका था मंजिल के करीब
ऐसी राहों पर चलाया आपने।।

अपनी सूरत और की लगने लगी
आईना कैसा दिखाया आपने,।।

आईना चिड़िया के आगे रख दिया
हमसे हमको ही लडाया आपने।।

एक शोला था सरल अपना शहर,
क्या किया कैसे बुझाया आप ने।।
 ‌। बृंदावन राय सरल सागर एमपी मोबाइल नंबर 786 92 18 525 वरिष्ठ कवि एवं शायर सागर मप्र
9/8/2020

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें