मंगलवार, 25 अगस्त 2020

सुप्रसिद्ध कवयित्री नीलम डिमरी जी द्वारा 'नारी का सम्मान करो' विषय पर कविता

🌹💐🌹💐🌹💐🌹💐
नमन वीणा वादिनी
दिनांक--२५/०८/२०२०
दिवस-- मंगलवार
विषय-- नारी का सम्मान करो
    ===================

नारी का सम्मान करो,
मत उसका अपमान करो,
नारी है जगत दात्री,
और हम सबकी मात्री।

वह आदिशक्ति है,
निज गुण की वह भक्ति है,
जिम्मेदारी में लिपटी वह,
फिर हर जगह क्यों लुटती है?

संस्कृति की वाहक यही,
सुंदर- सभ्य समाज यही,
सावित्री बन पति की धाल बने,
अपनों की खातिर वह काल बने।

नहीं जगाना इस दुर्गा को,
बांटती जो प्यार है,
तार-तार होती है तुम पर,
अब उसके सम्मान की ललकार है।

कदम से कदम मिलाती है,
नारी गौरव है, अभिमान है,
अपमान न करना इसका कभी,
लक्ष्मी, सरस्वती का यह दान है।


     रचनाकार-- नीलम डिमरी
         चमोली ,,,,उत्तराखंड

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें